हरियाणा में शुरू हुआ पहला सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट..

सोनीपत जिले में लगाएं गए प्लांट में कूड़े-कचरे से बिजली बनाने का प्रयोग कामयाब रहा
सोनीपत जिले में लगाएं गए प्लांट में कूड़े-कचरे से बिजली बनाने का प्रयोग कामयाब रहा

सोनीपत । सोनीपत जिले के गांव मुरथल में लगाएं गए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट को शुरू कर दिया गया है. पानीपत व सोनीपत जिले के कचरा निस्तारण के लिए लगाएं गए प्लांट में सोमवार को कूड़े-कचरे से बिजली बनाने का प्रयोग कामयाब रहा. सोमवार को निगम आयुक्त जगदीश शर्मा व JBM कंपनी के अधिकारियों की मौजूदगी में कचरे से बिजली बनाने का ट्रायल किया गया,जो सफल रहा. अब इस प्लांट को शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल जल्द ही इसका उद्घाटन करने आएंगे. इस प्लांट में पानीपत, समालखा, गन्नौर व सोनीपत से आने वाले कूड़े-कचरे से बिजली पैदा की जाएगी.

जेबीएम कंपनी के सहयोग से 176 करोड़ रुपए की लागत राशि खर्च कर मुरथल के ताजपुर रोड़ पर प्रदेश का पहला सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट तैयार किया गया है. यह प्रतिदिन 650 टन कचरे का निस्तारण कर आठ मेगावाट बिजली उत्पादन करेगा. योजना के मुताबिक मार्च 2019 तक इस प्लांट को शुरू करने की तैयारी थी लेकिन समय पर निर्माण कार्य पूरा नहीं होने की वजह से समय-सीमा को बढ़ाकर मार्च 2020 कर दिया गया था.

इसके बाद कोविड 19 महामारी की वजह से लॉकडाउन लगने से काम रफ्तार नहीं पकड़ सका. निगम आयुक्त ने कंपनी प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर तेजी से कार्य करने के दिशा-निर्देश दिए. निगम आयुक्त की सहमति के बाद सोमवार को बिजली बनाने का ट्रायल किया गया जिसमें कामयाबी हासिल हुई. अब इस प्लांट को पूरी तरह से चालु करने के लिए प्रदेश के मुखिया मनोहर लाल जल्द ही इसका उद्घाटन करेंगे. ट्रायल सफल रहने की सूचना शहरी स्थानीय निकाय विभाग को भी भेज दी गई है: जगदीश शर्मा, आयुक्त नगर निगम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

हरियाणा और राजस्थान के लोग आमने-सामने, खोद डाला नेशनल हाईवे..

Wed Jul 28 , 2021
चंडीगढ़ ।  राजस्थान के अलवर जिले के भिवाड़ी में लंबे समय से हरियाणा और राजस्थान के बीच पानी को लेकर के बड़ा विवाद बना हुआ है. दरअसल फैक्ट्रियों से निकलने वाला गंदा पानी या काला पानी सीमा पार चले जाता है.  बारिश का मौसम शुरू होते ही एक बार फिर […]
दोनों राज्य के लोगों ने हाईवे को जेसीबी से खोदकर पानी को रोक दिया गया है